ऐसे कैसे लड़ेंगे कोरोना से: पीएमसीएच (PMCH) में डॉक्टरों के लिए सेनेटाइजर नहीं

PMCH

बिहार में अभी तक कोरोना वायरस से ग्रस्त कोई भी मरीज नहीं मिला है. इसके बावजूद राज्य सरकार अपनी तरफ से कई एहतियातन कदम उठा रही है ताकि इस जानलेवा वायरस से लड़ा जा सके. वहीं पीएमसीएच ने सभी डॉक्टरों और अपने कर्मचारियों की छुट्टियों को रद्द कर दिया है.

बिहार के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल पटना मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल (पीएमसीएच) में इस वक्त का कोरोना वायरस का संदिग्ध एक मरीज को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है. इस शख्स का नाम विनोद कुमार है जो समस्तीपुर का रहने वाला है. जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पहले ही यह दुबई से वापस भारत आया था.

ऐसे में इस महामारी से मुकाबला करने के लिए पीएमसीएच प्रशासन ने सभी डॉक्टरों और अपने कर्मचारियों की छुट्टियों को रद्द कर दिया है. पीएमसीएच प्रशासन ने सभी डॉक्टरों और कर्मचारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिए हैं. अगले आदेश तक सभी डॉक्टरों और कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं.

25_03_2020-pmch_20139852

वहीं दूसरी ओर राज्य के सभी जिलों में चलने वाले आंगनबाड़ी केंद्रों पर भी रोक लगा दी गई है. सरकार का यह फैसला अगले आदेश तक लागू रहेगा. राज्य सरकार ने निर्देश का असर तकरीबन डेढ़ लाख आंगनबाड़ी केंद्रों पर पड़ेगा. इसके साथ ही 14 मार्च को पटना में होने वाले ‘बिहार स्टार्टअप कॉन्क्लेव’ के कार्यक्रम को भी बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन ने रद्द कर दिया है.

बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के अधिकारियों का कहना है कि जिस तरीके से कोरोना वायरस ने देश में अपने पैर पसारे हैं, उसमें यह जरूरी हो गया है कि इस तरीके के आयोजनों को रद्द किया जाए ताकि लोगों की भीड़ भी एक जगह पर जमा ना हो.

 

 

Chirag
Trying to connect you from almost all the hottest news of Bihar and the reason behind this is to ensure the proper awareness of all of the citizen.
So say AaoBihar

Comments

comments