दिल्ली के सीएम के कार्यालय में सीबीआइ का छापा आश्चर्यजनक: नीतीश

Nitish-Kumar
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के कार्यालय में सीबीआइ का छापेमारी पर  आश्चर्य जताया.  कहा कि अब तक कि केंद्र और राज्य सरकारों के बीच जितनी भी मर्यादाएं हैं, वे भंग हो गयी हैं. यह विचित्र बात है, सहसा यकीन नहीं होता है. किसी भी व्यक्ति के बारे में कोई आरोप है, जांच-पड़ताल हो रही है, तो जांच होनी चाहिए.
लेकिन, अगर कहीं मुख्यमंत्री कार्यालय तक आप जा रहे हैं, तो क्या मुख्यमंत्री को उसकी पूर्व सूचना थी, जानकारी थी ? किसी चीज की जानकारी न होना और जो भी मामले हैं, क्या वे मामले अभी के पद को धारण करने से संबंधित है.  अगर पूर्व के मामले हैं, तो और भी विचित्र बात है.  उसके तो बहुत सारे तरीके हो सकते हैं. उन्होंने कहा िक लोकतंत्र में हमारा जो संघीय ढांचा है, वह परस्पर विश्वास व एक दूसरे की इज्जत करने पर निर्भर करता है,  इसलिए ऐसी चीजों के बारे में कोई भी कदम उठाने के पहले सारे चीजों को गौर करना चाहिए.
ऐसा करने के पीछे अगर किसी पर आरोप है तो उसकी जांच नहीं हो, मैं इसकी वकालत नहीं कर सकता हूं. जांच तरीके से होनी चाहिए.  उसमें किसी प्रकार की बाधा भी नहीं आनी चाहिए. लेकिन किसी भी चीज को करने का कोई तरीका हो.
मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर कोई मामला पहले का हो, उससे आज की स्थिति से कोई रिश्ता न हो तो आखिर इसका मैसेज क्या जाता है. उन्होंने कहा कि इसका मैसेज बहुत ही लोकतांत्रिक एवं संघीय व्यवस्था के लिये खतरनाक है.  इसलिये इन सब पहलुओं पर गौर किया जाना चाहिए. यह एक ऐसी विचित्र स्थिति है कि इसका तो कोई समर्थन कर ही नहीं सकता है.
Source: Prabhat Khabar
Krishna Kumar
The state of Bihar has given a lot to the history of humanity but in recent past we had given child labour, women harresment, theft, murder and corruption. I am here to raise the voice.!

Comments

comments