नीतीश कुमार बने जेडीयू अध्यक्ष, ली शरद यादव की जगह

20IN_THSRI_NITISH__1462747g

बिहार की सत्ताधारी पार्टी जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) की कमान अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों में आ गई है। सुशासन बाबू के नाम से मशहूर नीतीश को आज रविवार को पार्टी की नेशनल काउंसिल की बैठक में जेडीयू का नया अध्यक्ष बनाया गया है। नीतीश ने पूर्व अध्यक्ष शरद यादव की जगह ली है। इस पद की दौड में केसी त्यागी और वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम भी थे।

इस नेतृत्व परिवर्तन के साथ ही यादव के अध्यक्ष पद के 10 साल के कार्यकाल का अंत हो गया। हालांकि यादव ने खुद ही लगातार चौथी बार पार्टी अध्यक्ष बनने से इनकार कर दिया था। शरद व नीतीश इस पार्टी के संस्थापक सदस्य हैं। शरद सबसे पहले वर्ष 2006 में जेडीयू के अध्यक्ष बने थे और साल 2013 में तीसरी बार अध्यक्ष चुने गए।

Nitish-Kumar

तब पार्टी के संविधान में बदलाव करके शरद को अध्यक्ष बनाया गया था, क्योंकि पार्टी के संविधान में लगातार दो बार से ज्यादा अध्यक्ष बनाए जाने पर पाबंदी थी। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार जेडीयू बिहार से बाहर भी चुनावी मैदान में ताल ठोकने की तैयारी में है।

अटकलें लगाई जा रही हैं कि पूर्व केंद्रीय मंत्री अजीत सिंह की पार्टी आरएलडी और झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी की पार्टी झारखंड विकास मोर्चा जेडीयू में विलय करेंगे। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में जेडीयू को बिहार में करारी हार मिली थी, लेकिन पिछले साल विधानसभा चुनाव में पार्टी ने लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) और कांग्रेस के साथ मिलकर जबरदस्त वापसी की और फिर से सरकार बनाई।

Krishna Kumar
The state of Bihar has given a lot to the history of humanity but in recent past we had given child labour, women harresment, theft, murder and corruption. I am here to raise the voice.!

Comments

comments