किनारे

किनारे

कुछ काम-बेसी ही सही उतार-चढ़ाओ के साथ दूंढ़ ही लेते है हम फसे मझदार में कयी  ख्त्म होती साल के साथ निकले है रास्ते पाये […]