कोरोना वायरस में बिहार के विद्यालय बंद, मगर उन्नयन बिहार के माध्यम से मोबाइल बना विद्यालय

unnayan bihar corona virus

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने से बचने के लिए बिहार सरकार ने सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर को 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। मुख्य सचिव दीपक कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह जानकारी दी।

उन्नयन बिहार की पहल: मेरा मोबाइल मेरा विद्यालय

कोरोना वायरस के प्रभाव से विद्यालय बंद है, मगर विद्यार्थी घर से बैठे पढ़ाई कर सकते है स्कूल के सभी पाठ्यक्रम को पढ़ने के लिए उन्नयन मोबाइल अप्प या इकोवेशन मोबाइल अप्प डाउनलोड करके पढ़ना शुरू करे। उन्नयन मोबाइलअप्प (unnayan app) पर क्लास 9 और 10 के सभी सब्जेक्ट और इकोवेशन मोबाइल अप्प (Eckovation App) पर क्लास 6 से 12 के सब्जेक्ट्स बिलकुल मुफ्त उपलब्ध है।

उन्नयन अप्प डाउनलोड करने के लिए ये लिंक है: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.eckovation.unnayan
इकोवेशन मोबाइल अप्प करने के लिए ये लिंक है: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.eckovation

क्षेत्रीय भाषा, फोटो और वीडियो डालकर पूछ रहे सवाल

एप छात्रों की सुविधा को देख कर बनाया गया है। इसमें क्षेत्रीय भाषा में प्रश्न पूछने की सुविधा दी गयी है। प्रश्न का फोटो खींचकर और वीडियो बनाकर भी एप में डाल सकते हैं। एप के माध्यम से छात्र लाइव क्विज कांटेस्ट में भी शामिल हो रहे हैं। बिहार बोर्ड द्वारा निर्धारित नौवीं और 10वीं के पूरे सिलेबस को इसमें डाला गया है।

बिहार के नौवीं व 10वीं के सैकड़ों विद्यार्थी अपना सवाल मोबाइल एप में डालते हैं और उन्हें आईआईटी के अलावा मैसाच्युसेट्स विश्वविद्यालय (एमआईटी) अमेरिका के छात्र जवाब दे रहे हैं।

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की मानें तो आईआईटी दिल्ली, कानपुर, खड़गपुर, पटना आदि के 1500 से अधिक छात्र इस एप से जुड़े हैं। उन्नयन योजना के तहत मेरा मोबाइल मेरा विद्यालय एप से जुड़े अभी कुछ ही दिन हुए हैं, लेकिन इससे अब तक सूबे के 27 हजार लोग जुड़ चुके हैं। इनमें एक हजार करीब शिक्षक और विशेषज्ञ हैं। यह एप फिलहाल नौवीं और 10वीं सरकारी स्कूलों के छात्रों के लिए बनाया गया है, लेकिन इससे कोई भी जुड़ सकता है। रोज सौ से दो सौ के लगभग प्रश्न इस एप पर आ रहे हैं। इस एप से मिनट भर से भी कम समय में मिल जाते हैं। एप से देश के साथ विदेश के कई प्रसिद्ध संस्थान जुड़े हैं।

ये हो रहे हैं फायदे

– बार बार रिविजन का मौका मिलेगा
– जब चाहें सवाल का जवाब ले पाएंगे
– एक बजे रात में भी सवाल का जवाब मिल जाता है
– छात्र एक दूसरे के संपर्क में आ रहे हैं
– उन्नयन एप से जुड़े हुए हैं एक हजार शिक्षक और विशेषज्ञ

ये मैसेज विद्यार्थियों और अभिभावकों तक जरूर पहुँचाये। धन्यवाद

Chirag
Trying to connect you from almost all the hottest news of Bihar and the reason behind this is to ensure the proper awareness of all of the citizen.
So say AaoBihar

Comments

comments