सुन हर साँस कहती है ‘आज जाने की ज़िद न करो’

Farida Khanum

शब्दों को सिर्फ आवाज़ नहीं, दिल से भी गाने और सुनाने का नाम है फ़रीदा ख़ानुम।
बहरहाल उम्र जो छीनते जिंदगी को जाती है (क्युकी वक़्त के कैद में है जिंदगी), उसने साजिस से खनक छीन सी ली है पर ज़ज़्बे को आज भी सलाम है इनके।

क्युकी अब जो इन्होने ने गाया है, लगता है, बस खुद लिए ही कह रही हो की आज जाने की ज़िद न करो।

Subhikhya
Not from Bihar, heard a lot about the state. Always interested in exploring the art culture and politics of the state. So here I am, writing and doing PR for AaoBihar.com
Come and Join Us :)

Comments

comments