छपरा के रितेश सिंह का बनाया एंड्रॉयड एप “इकोवेशन’ स्कूली एजुकेशन का स्वरूप बदल रहा है

eckovation student user
बिहार की शैक्षणिक व्यवस्था पर सवाल उठाती मैट्रिक परीक्षा में नकल की तस्वीर विदेशी मीडिया में चर्चित रही। लेकिन इस बार राज्य की प्रतिभा सकारात्मक वजह से कई देशों में चर्चा में है। छपरा के रितेश सिंह का बनाया एंड्रॉयड एप “इकोवेशन’ स्कूली एजुकेशन का स्वरूप बदल रहा है।
शिक्षक-छात्र के बीच की पट रही दूरी : यह एप अपने जबरदस्त फीचर से शिक्षक व विद्यार्थियों के बीच की दूरी को पाट रहा है। छात्र 24 घंटे इंटरेक्टिव एजुकेशनल सर्विस लेने में भी सक्षम हुए हैं। देश में मुंबई, दिल्ली व कोलकाता के कई बड़े स्कूल भी इस एप का इस्तेमाल कर रहे हैं।
स्कूल से संपर्क बस पलक झपकते
एप “इकोवेशन’ के जरिए छात्र अपने व्यस्त शिक्षकों के साथ इंस्टैंट प्रॉब्लम सॉल्व फीचर से अपनी समस्या का त्वरित समाधान पा रहे हैं। शिक्षक भी विद्यार्थियों को पाठ्य सामाग्री मोबाइल पर बांटने में सक्षम हो रहे हैं। ईमेल और अन्य प्लेटफॉर्म के जरिए यह एप आसानी से शिक्षक व विद्यार्थियों को एक-दूसरे से जोड़ रहा है। रितेश सिंह के एप की अपने देश ही नहीं, पूरी दुिनया में तारीफ हो रही है।
अभिभावक से संपर्क साधना मुश्किल नहीं
एप के जरिए स्कूल प्रशासन भी अभिभावकों से संपर्क में रह सकेंगे। पैरेंट्स-टीचर्स इंटरेक्टिव फीचर के जरिए शिक्षक एक साथ या फिर व्यक्तिगत रूप से अभिभावकों को उनके बच्चों के परफॉर्मेंस व अन्य गतिविधियों की जानकारी दे सकेंगे। अभिभावक भी स्कूल प्रशासन के साथ आसानी से संवाद कर पाएंगे।
App Screen
कर सकते हैं प्राइवेसी कंट्रोल
एप में अभिभावक, शिक्षक व छात्र प्राइवेसी कंट्रोल भी कर सकते हैं। सभी अलग-अलग एकाउंट से जुड़ सकते हैं। ग्रुप मैसेज के साथ-साथ व्यक्तिगत तौर पर भी संवाद किया जा सकता है। एप के जरिए टेक्स्ट बुक, इमेज, वीडियो, रिमाइंडर, असाइनमेंट आदि शेयर किए जा सकते हैं। एप की खासियत यह है कि इसका साइज कम है और इसे आसानी से मोबाइल पर ऑपरेट किया जा सकता है।
आईआईटी दिल्ली से की पढ़ाई
Team Eckovation
रितेश मूल रूप से छपरा के रहने वाले हैं। आईआईटी दिल्ली से बीटेक करने के बाद उन्होंने कई महीने विदेशी फर्म में काम भी किया। अपना और कुछ नया करने की इच्छा ने उन्हें एप बनाने की प्रेरणा दी। एप की बढ़ती मांग को देखते हुए रितेश ने इसके नाम से ही कंपनी बनाई। कॉर्पोरेट अफेयर्स के तहत ‘इकोवेशन’ आज एक रजिस्टर्ड कंपनी है। रितेश इसके सीईओ हैं। उनके दोस्त अक्षत गोयल सीटीओ पद संभाल रहे हैं।
 आप भी हो सकते है इसका हिस्सा 
इकोवेशन द्वारा चलाये जा रहे ‘ओपन स्कूल’ में देश हज़ारो शिक्षा से जुड़े लोग बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे है, जहाँ IIT से पढ़े शिक्षक अपने ज्ञान को लोगो तक पहुँचा रहे है।  आज ही आप भी इसका हिस्सा बने और बस चन्द मिनटों में उच्च स्तरीय शिक्षा पाये। इसके लिए आपको Eckovation App अपने मोबाइल में डालना होगा और अपने से जुड़ा क्लास का कोड अप्प में भरना होगा।
इकोवेशन अप्प का लिंक : Click Here
कोड आप यहाँ से प्राप्त कर सकते है: http://eckovation.com/openschool/
Source: Dainik Bhaskar 

 

Krishna Kumar
The state of Bihar has given a lot to the history of humanity but in recent past we had given child labour, women harresment, theft, murder and corruption. I am here to raise the voice.!

Comments

comments