अमेरिका के ड्यूक यूनिवर्सिटी में छाया बिहार, डीएम कुंदन कुमार की पहल

Unnayan Banka DM Kundan Kumar

साल भर पहले बांका के पांच सरकारी विद्यालयों से शुरू हुई उन्नयन की कहानी अब अमेरिका के ड्यूक यूनिवर्सिटी में छा गई। अमेरिका में बांका-बांका गूंज रहा है। स्मार्ट क्लास के जरिए गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा देने की तकनीक उन्नयन के प्रणेता डीएम कुंदन कुमार ने वहां आयोजित एक समारोह में अमेरिकी विवि के छात्रों को विस्तार से इसकी जानकारी दी। उन्होंने इसकी शुरुआत के बाद बांका जिले के पिछड़े इलाकों की शिक्षा में आ रहे बदलाव की कहानी छात्रों को सुनाई। ड्यूक यूनिवर्सिटी की ओर से डीएम उन्नयन कार्यक्रम पर भाषण देने के लिए आमंत्रित किए गए थे।

दरअसल दो महीने पूर्व ही अमेरिका के गुयाना टाउन में उन्नयन कार्यक्रम ने सिंगापुर और मलेशिया जैसे देशों को पछाड़ कर कैंपम अवार्ड जीता था। इसके बाद से ही वहां के लोगों में इस कार्यक्रम के बारे में जानने की उत्कट अभिलाषा बनी हुई है। इंटरनेशनल स्तर पर उन्नयन के अवार्ड जीतने पर अमेरिका के नार्थ कैरोलिना स्थित सबसे बड़े निजी ड्यूक यूनिवर्सिटी ने इस पर उन्न्यन पर लेक्चर देने के लिए डीएम कुंदन कुमार को आमंत्रित किया था।

Unnayan Banka DM Kundan Kumar 1

बांका के डीएम कुंदन कुमार को उच्च शिक्षा में छात्रों के लिए उन्नयन कार्यक्रम के उल्लेखनीय योगदान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों पीएम अवार्ड मिल चुका है। शिक्षा से जुड़े देश के चुनिंदा मॉडलों को पछाड़ उन्नयन पहले नंबर पर रहा था। इसके पहले मानव संसाधन विकास विभाग, पीएमओ स्तर की कई टीमों ने बांका पहुंच कर उन्न्यन को नजदीक से देख-परख चुके हैं। इस सफलता के बाद इसे इंटरनेशनल अवार्ड के लिए भेजा गया था। वहां भी अमेरिका में उन्न्यन कार्यक्रम विजेता बना। इस सफलता के बाद बिहार सहित देश के कई राज्यों में इस कार्यक्रम को लागू करने की बात चल रही है। विभिन्न राज्यों व बिहार सरकार के शिक्षा विभाग की टीमें लगातार बांका का दौरा कर रही हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी अपने पिछले बांका दौरे में इस कार्यक्रम को बिहार में लागू करने की घोषणा कर चुके हैं।

Unnayan Banka

क्या है उन्नयन

उन्नयन बांका के पिछड़ापन को दूर करने का एक अभियान है. इसे डीएम ने पिछले साल शुरू किया था। इस अभियान से इकोवेशन (Eckovation) एप के माध्यम से मोबाइल को विद्यालय बना कर पढ़ाई कराई जा रही है। इसके अलावा बांका के चार दर्जन हाईस्कूलों में एलइडी स्मार्ट क्लास से बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। मैट्रिक और इंटर के बच्चों को निशुल्क कोचिंग कराई जा रही है। पढ़ाई के साथ इससे अब तक बांका के 800 युवाओं को निजी कंपनी में नौकरी भी दिलाई जा चुकी है।

Chirag
Trying to connect you from almost all the hottest news of Bihar and the reason behind this is to ensure the proper awareness of all of the citizen.
So say AaoBihar

Comments

comments