UPSC 2016 Results: बिहार के उत्सव कौशल को 14वां, सोमेश को मिला 34वां रैंक

IAS from Bihar
यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा, 2016 का रिजल्ट बुधवार की देश शाम घोषित कर दिया गया. इसमें बड़ी संख्या में बिहार के अभ्यर्थियों ने सफलता हासिल की है. दरभंगा के उत्सव कौशल ने टॉप 20 में जगह बनायी है.
उन्हें 14वां रैंक मिला है. सीएम साइंस कॉलेज के अंगरेजी के प्राध्यापक कौशल कुमार सिन्हा के पुत्र उत्सव कौशल ने यह सफलता दूसरे प्रयास में हासिल की. आइआटी, दिल्ली से बीटेक उत्सव को 2015 में 500वां रैंक मिला था. सारण के मढ़ौरा के अवारी गांव के सोमेश  उपाध्याय ने 34वां रैंक हासिल किया है. उन्होंने यह सफलता दूसरे प्रयास में  प्राप्त की है
सुमित ने कहा कि यह सफलता मेरे लिए खास है, क्योंकि मेरे पिता की पुण्यतिथि के दिन यह रिजल्ट अाया है. पिता सपना था कि बेटा आइएएस बने. वहीं, दरभंगा के प्रसिद्ध चिकित्सक व पदमश्री डॉ मोहन मिश्रा की नतिनी सौम्या झा ने पहले प्रयास में ही   58वां रैंक प्राप्त किया है. उनके पिता संजय कुमार झा आइपीएस अधिकारी, जबकि मां डॉ मातंगी झा चिकित्सक हैं. सौम्या मूल रूप से मधुबनी जिले के डुमरा गांव की रहनेवाली हैं. उन्होंने डीएवी,पटना  से 10वीं की परीक्षा पास की. डीपीएस, दिल्ली से इंटर पास करने के बाद वह मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई 2016 में पूरी की.
मधुबनी के मूल निवासी नीरज कुमार झा को 109वां रैंक मिला है. उनकी फैमिली फिलहाल धनबाद में रहती  है.  नीरज के पिता दामोदर वैली कार्पोरेशन में कार्यरत हैं. दरभंगा के सुमित कुमार झा ने 111वां रैंक  हासिल किया है.  आइआइटी, रूड़की  से बीटेक सुमित को यह सफलता  दूसरे प्रयास में मिली.
IAS from Bihar
पटना के सन्नी राज को 132वां रैंक मिला है. उनका यह चौथा प्रयास था.  एनआइटी जमशेदपुर से बीटेक पिछले साथ उन्हें आइआरएस मिला था. गया के प्रभात रंजन पाठक ने 137वां रैंक हासिल किया है. उनका यह मेरा   पहला ही प्रयास था. भोजपुर के बड़हरा प्रखंड के सबलपुर गांव के नितेश पांडेय ने 141वां रैंक हासिल किया है. आइआइटी, चेन्नई से इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग की पढ़ाई करनेवाले नितेश के पिता श्रीमत पांडेय भी आइएएस अधिकारी हैं.
वह राजस्थान में विद्युत बोर्ड के चेयरमैन हैं. सहरसा के  चैनपुर के सत्यम ठाकुर ने 218वां रैंक लाया है. यह उनका चौथा प्रयास  था. भागलपुर के कहलगांव एनटीपीसी में कार्यरत मानस  वाजपेयी को 456वां रैंक हासिल हुआ है. वह मूल रूप से यूपी के रायबरेली के रहने  वाले हैं. वर्तमान में वह कहलगाव एनटीपीसी में ऑपरेशन विभाग मे डिप्टी  मैनेजर के पद पर कार्यरत हैं.
हाजीपुर के स्थानीय राजनरायण कॉलेज के प्राचार्य डॉ ओमप्रकाश राय के पुत्र ओंकार ने  458 वां रैंक हालिस किया है. वहीं,  वैशाली जिले के सराय थाने के शेम्भोपुर गांव लालकोठी के  कुंदन कुमार को 553 वां रैंक मिला है.
इससे पहले कुंदन भारतीय वन  सेवा (आइएफएस) की परीक्षा में पूरे देश में 9वां स्थान लाकर बिहार टॉपर बने  थे.वहीं, बरबीघा के अभिषेक कुमार को 773वां रैंक मिला है. पिछले साल उन्हें 1028वां रैंक मिला था. बांका जिले के बौंसी थाना क्षेत्र के विनोद कुमार ने 819 हासिल किया है. वर्तमान में वह बेंगलुरु में असिस्टेंट प्रोविडेंट फंड के कमिश्नर के पद पर कार्यरत हैं. वहीं बौंसी के कुशमाहा निवासी बमबम यादव ने 949वां लाया है. बमबम वर्तमान में बॉटनिकल सर्वे ऑफ इंडिया इलाहाबाद में जूनियर ट्रांसलेटर के पद पर कार्यरत हैं.
बिहार के अन्य टॉपर्स
सन्नी राज  132
प्रभात रंजन पाठक 137
नितेश पांडेय  141
सत्यम ठाकुर  218
मानस  वाजपेयी  456
ओंकार  458
आदित्य कुमार झा 503
कुंदन कुमार  553
आंेकार नाथ 653
अभिषेक कुमार  773
विनोद कुमार  819
बमबम यादव  949
कर्नाटक की नंदिनी चौथे प्रयास में नेशनल टॉपर
नयी दिल्ली : संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने सिविल सेवा परीक्षा, 2016  के नतीजे घोषित कर दिये हैं. कर्नाटक की केआर नंदिनी ने परीक्षा में टॉप  किया है. दूसरे स्थान पर अनमोल शेर सिंह बेदी और तीसरे स्थान पर गोपालकृष्ण  रोनांकी हैं. चौथे नंबर पर फिर एक लड़की ने बाजी मारी है. इनका नाम सौम्या पांडे है और टॉप फाइव में आखिरी नाम अभिलाष मिश्रा का है.
रिजल्ट upsc.gov.in पर देखा जा सकता है.
 विभिन्न सरकारी सेवाओं के लिए 1,099 उम्मीदवारों की अनुशंसा की गयी है. प्रतीक्षा सूची में 220 अन्य उम्मीदवारों को रखा गया है. आइएएस के लिए 180, आइएफएस के लिए 45 और आइपीएस के लिए 150 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है. इनके अलावा केंद्रीय सेवाओं में ग्रुप-ए के लिए 603 और  ग्रुप-बी के लिए 231 का चयन हुआ है.
आइएएस, आइएफएस, भारतीय पुलिस  सेवा व अन्य केंद्रीय सेवाओं के अफसरों के चयन के लिए यूपीएससी तीन  चरणों प्रारंभिक, मुख्य व साक्षात्कार में सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करती  है.
कश्मीर के बिलाल को 10वीं रैंक : कश्मीर के रहने वाले बिलाल मोहिउद्दीन भट को 10वीं रैंक मिली है. भारतीय वन सेवा के अधिकारी बिलाल अभी लखनऊ में तैनात हैं. बिलाल ने कहा कि शब्दों से मेरी भावनाएं बयान शायद ही हो सकती हैं. मैं आज खुद को दुनिया के शीर्ष पर महसूस कर रहा हूं. मैं इस कहावत में यकीन करता हूं – बार-बार, बार-बार कोशिश करो. मैं 2010 से ही कोशिश कर रहा था.
िशक्षा के क्षेत्र में योगदान देना चाहती हूं
नंदिनी का कहना है कि वह हमेशा से आइएस ऑफिसर बनना चाहती थी. वह देश के शिक्षा क्षेत्र में योगदान करना चाहती हैं. ओबीसी वर्ग की नंदिनी ने वैकल्पिक विषय के तौर पर कन्नड़ साहित्य का पेपर दिया था. उन्होंने बेंगलुरु के एमएस रमैया इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से सिविल इंजीनियरिंग में बीइ की डिग्री हासिल की थी. आइआरएस  ऑफिसर नंदिनी का यह चौथा प्रयास था. साल 2014 की सिविल सेवा परीक्षा में भी वह सफल हुई थीं. वह फिलहाल, इंडियन रेवेन्यू सर्विस में हैं.
ये हैं टॉप 10
– नंदिनी के आर
– अनमोल शेर सिंह बेदी
– गोपालकृष्ण रोनांकी
– सौम्या पांडेय
– अभिलाष मिश्रा
– कोठामासू दिनेश कुमार
– आनंद वर्धन
– श्वेता चौहान
– सुमन सौरव मोहंती
– बिलाल मोहीउद्दीन भट
Chirag
Trying to connect you from almost all the hottest news of Bihar and the reason behind this is to ensure the proper awareness of all of the citizen.
So say AaoBihar

Comments

comments